घटना के समय शेषनाथ सिंह रमेश सिंह मुंडा का बॉडीगार्ड था। उसने रमेश सिंह मुंडा हत्याकांड को अंजाम देने के लिए नक्सलियों की मदद की थी।

Go to Source

Leave a Reply